भावातीत ध्यान कैसे करे? (updated)

transcendental meditation in hindi

Transcendental Meditation in Hindi (भावातीत ध्यान) – भावातीत ध्यान की खोज महृषि महेश योगी ने की थी। यह बिलकुल ही सरल और प्राकृतिक ध्यान विधि है। इस ध्यान में हमे कोई प्रयत्न नहीं करना पड़ता ये स्वतः ही होने लगता है। यह ध्यान विधि मंत्र ध्यान से भी थोड़ी बहुत मिलती – जुलती है क्योंकि इसमें हम कुछ खास मंत्रों का प्रयोग करते है।

यह हमारे मन को अत्यंत शांत और हमारे शरीर को बिलकुल हल्का कर देता है। भावातीत ध्यान विधि की लोकप्रियता दिन ब दिन बढ़ती जा रही है। इस ध्यान विधि को वैज्ञानिको द्वारा भी प्रमाणित किया जा सकता है। यहाँ तक की विदेशो में तो इस ध्यान विधि को सिखाने के लिए बड़े बड़े-बड़े इंस्टिट्यूट भी खुले हुए है। जहाँ पर इस विधि में पारंगत शिक्षक इस ध्यान विधि को सिखाते है।

भावातीत ध्यान की विशेषता – Specifications Of Transcendental Mediation

  1.  इस ध्यान विधि में हमे किसी भी प्रकार के कोई प्रयत्न  की आवश्यकता  नहीं पड़ती।
  2. हमे इस ध्यान में किसी प्रकार के एकाग्रता  की आवश्यकता नहीं पड़ती
  3. इसमें हमे मन को भी कण्ट्रोल नहीं करना पड़ता।
  4.  ना किसी वस्तु पर अपना ध्यान लगाना पड़ता।
  5.  इस ध्यान को अवसाद और मन शांति के लिए  वैज्ञानिक प्रमाणिकता प्राप्त है।

भावातीत ध्यान करने का तरीका – How To Do Transcendental Mediation

भावातीत ध्यान को करने के लिए हमे इस ध्यान विधि की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर नाम दर्ज़ करवाना पड़ता है और वही पर पारंगत शिक्षक हमे इस ध्यान विधि के बारे में बताते है।

  1. भावातीत  ध्यान विधि को कभी भी और कही भी किया जा सकता है।
  2. यह ध्यान दुनिया भर में बड़ी ही तेज़ी से बढ़ता जा रहा है।
  3. भावातीत ध्यान विधि को हमे सुबह-शाम 20 -20 मिनट करना होता है।
  4. इस ध्यान को करते समय हमे कुछ मंत्रो का उच्चारण भी करना होता है। जो हमे इंस्टिट्यूट द्वारा दिए जाते है।
  5. इस ध्यान विधि का उपयोग करके काफी हस्तियों ने भी इसके लाभों का आनंद लिया है।

इस ध्यान को सिखने के लिए निचे दी गयी ऑफिसियल लिंक पर क्लिक करे और लाभ प्राप्त करे।

Transidental Meditation Official Website Link Click HERE 


भावातीत ध्यान के लाभ – Benefits Of Transcendental Meditation In Hindi

भावातीत ध्यान करने से हमे सम्पूर्ण लाभ मिलते है।

  1.  इस ध्यान को करने  अवसाद से बच सकते है।
  2. भावातीत ध्यान हमारे रक्तचाप को संतुलित करके ह्रदय को सम्पूर्ण सुरक्षा प्रदान करता है।
  3. यह ध्यान हमारे शरीर में निरंतर ऊर्जा उत्पन्न करता रहता है जिससे हम पुरे दिन स्फूर्ति से भरे रहते है।
  4. मस्तिष्क की कार्य शक्ति और रचनात्मक शक्ति को चरम सिमा तक ले के जाता है।
  5. अनिद्रा की बीमारी से छुटकारा दिलाता है।
  6. भावातीत ध्यान करने से हमारा शरीर, मन  और मस्तिष्क पूर्ण रूप से स्वस्थ हो जातें है।

अगर आपको हमारे के बारे में ये लेख अच्छा लगा तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। यदि आपने कभी भावातीत ध्यान किया है तो अपने अनुभव नीचे जरूर कमेंट करे ताकि बाकी लोग भी इस ध्यान के बारे में और जान सके।  आपके कीमती समय के लिए धन्यवाद।

Related Post:

तो जुड़े रहिये AatmGyan से और Share  करे। 

You May Also Like

2 Comments

  1. बहुत सुंदर अद्भुत लेख है आपको बहुत-बहुत धन्यवाद कि आपने भगवती ध्यान के बारे में इतनी अच्छी जानकारी थी वास्तव में यह बहुत ही प्रभावशाली और बहुत ही सरल ध्यान विधि है इसका अभ्यास में कई सालों से कर रहा हूं और इसका अभ्यास करने से मैं कई मानसिक परेशानियों से बचा हूं

    1. Dhanywaad Rajesh Tomar Ji,
      Agar aapke paas is dhyan se juda koi anubhav hai to hum aapke bahut abhari rahenge, aapka anubhav hame or behtar bnaane me hmari madad karega.

  2. Can Amoxicillin Used To Treat Bronchitis Purchase Tamoxifen Online online cialis Northwestpharmacy Com Comprar Alli Adelgazante Online

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *